वैज्ञानिक डॉ लोकेश और बाबूराम कुशवाह की शोकसभा में उमड़ा जनसैलाब

विवेक जैन, बागपत। गौरीपुर मीतली गांव में बुधवार को भाजपा के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के क्षेत्रीय संयोजक अवधेश राणा के भाई वैज्ञानिक डॉक्टर लोकेश व उनके ताऊ बाबूराम कुशवाह की शोकसभा आयोजित की गयी। शोकसभा में वैज्ञानिक डॉ. लोकेश व उनके ताऊ बाबूराम कुशवाह को शैक्षिक, धार्मिक, सामाजिक, राजनैतिक क्षेत्र से जुड़ी अनेकों जानी-मानी हस्तियों ने श्रद्धा सुमन अर्पित किये और उनके परिवार को सांत्वना दी। 

राजपूत विकास समिति के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व जिला पंचायत सदस्य और प्रसिद्ध समाजसेवी अजय चौहान ने बताया कि वैज्ञानिक डॉ. लोकेश बहुत ही मिलनसार और एक महान व्यक्तित्व वाले शख्स थे। उन्होंने कहा कि  डॉ. लोकेश ने  गुरूकुल कांगड़ी हरिद्वार से पीएचड़ी हर्बल में गोल्ड़ मैडल प्राप्त किया था। उन्होंने कहा कि विश्व की प्रसिद्ध फार्मा कम्पनियों रैनबैक्सी, जुबीलिएन्ट में एक वैज्ञानिक के रूप में अपनी सेवाएं देने के उपरान्त वर्तमान में वह बैक्सटर कम्पनी अहमदाबाद में सीनियर साइंटिस्ट के पद पर नियुक्त थे और दवाओं पर महत्वपूर्ण शोध कर रहे थे। 

जिला बार एसोसिएशन बागपत के पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट विजयपाल सिंह तोमर ने बताया कि 40 वर्षीय वैज्ञानिक डॉ. लोकेश का डेंगू बीमारी के चलते 28 अगस्त को स्वर्गवास हो गया था। उन्होंने कहा कि उनका जाना परिवार, समाज और देश के लिए एक अपूर्णिय क्षति है। पश्चिम उत्तर प्रदेश भाजपा के क्षेत्रीय संयोजक व स्वर्गीय डॉक्टर लोकेश के बड़े भाई अवधेश राणा ने बताया कि उनके ताऊ बाबूराम कुशवाह का गत 6 सितम्बर को हदयगति रूकने से 93 वर्ष की उम्र में स्वर्गवास हो गया था। उन्होंने बताया कि बाबूराम कुशवाह ने अपना सम्पूर्ण जीवन सादगीपूर्वक बिताया और जितना हो सका समाज और जरूरतमंद लोगों की सेवा की। उन्होंने कहा कि डॉ. लोकेश और ताऊजी बाबूराम कुशवाह की शोकसभा एक ही दिन की गयी है। 

इस अवसर पर अनिल पुण्ड़ीर ब्लॉक प्रमुख देवबंद, उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री केपी मलिक के पुत्र व भाजपा नेता साहिल मलिक, भाजपा बागपत के पूर्व जिलाध्यक्ष सुदेश चौहान, बागपत सांसद प्रतिनिधि ठाकुर प्रदीप सिंह, बीजेपी के क्षेत्रीय संयोजक नरेन्द्र बंसल, राजपूत विकास समिति के अध्यक्ष राजेश चौहान, पूर्व प्रधान वीरेंद्र सिंह कुशवाह, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सम्मानित वरिष्ठ पत्रकार विपुल जैन, विनीत सिंह, सुधीर ठाकुर मितली, डब्बू चौहान, संजय प्रधान मितली, इंद्रपाल प्रधान मितली, मास्टर रमेश कुशवाहा सहित सैंकड़ो लोग उपस्थित थे।