कूर्मि समाज पर अत्याचार और अन्याय बर्दाश्त नहीं

कौशल किशोर आर्य, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

 

           मध्य प्रदेश के रीवा जिले के त्योथर तहसील के बडा़गांव में अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा और ओबीसी महासभा के सक्रिय कार्यकर्ता मंगलेश्वर सिंह पटेल के चाचा की हत्या कुछ बेईमान और गद्दार कूर्मि के साथ मिलकर ब्राह्मणों ने 13.09.2020 को कर दी। इस मामले में अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा अपनी ओर से पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने और अपराधियों को कठोर सजा दिलाने समेत पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपये मुआवजा दिलाने की पूरी कोशिश करते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पूर्व में किये वादे की याद दिलाते हुए महासभा के राष्ट्रीय महासचिव आरएस कनौजिया ने पत्र लिखा है।

आरएस कनौजिया ने निवेदन किया है कि आप जहाँ भी हैं वहाँ आपस में संगठित होकर भाईचारें के साथ सहयोग पूर्वक जीवन यापन करें और अन्य पिछड़े, दलित और अल्पसंख्यक समाज के साथ सामन्जस्य बनाकर विकास और अधिकार के लिए जागरूक बनें रहें, तभी कोई दुश्मन आपको नुकसान पहुंचाने की कोशिश नहीं कर पाएंगे। अगर आपस में संगठित नहीं रहेंगे तो इसका फायदा दूसरे दबंग और आपराधिक किस्म के लोग आपको नुकसान पहुंचा कर जान माल की क्षति करते रहेंगे। देश में कहीं भी कूर्मि समाज के लोगों पर किये जा रहे विभिन्न अत्याचार और अन्याय महासभा बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेगी। महासभा कूर्मि समाज के विकास और अधिकार तथा किये जा रहे विभिन्न अत्याचार और अन्याय के खिलाफ कूर्मि समाज के साथ हमेशा साथ खड़ा रहेगी। केन्द्र की मोदी सरकार और देश के विभिन्न राज्यों की सरकार कूर्मि समेत अन्य पिछड़े, दलित और अल्पसंख्यक समाज के लोगों पर किये जा रहे विभिन्न अत्याचार और अन्याय के खिलाफ उचित कदम उठाये वरना मजबूरन कूर्मि समाज को ऐसे बेकार और गैरजिम्मेदार सरकारों और राजनैतिक दलों के खिलाफ शंखनाद करना पडे़गा। अब विभिन्न राज्यों की सरकार और राजनैतिक दल खुद तय कर ले कि वे क्या चाहती है?

 

संस्थापक राष्ट्रीय समता महासंघ सह राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा