बैराज पर खतरे के निशान तक पहुंचा गंगा का जलस्तर

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। पहाड़ों पर हो रही वर्षा के बाद हरिद्वार से छोडे गए जल से मध्य गंगा बैराज पर गंगा का जलस्तर चेतावनी बिंदू 219 मीटर पर पहुंच गया है। सिंचाई विभाग ने बाढ चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है तथा मछुवारों को गंगा में नही जाने की चेतावनी दी है। शिवालिक की पहाडों पर हो रही वर्षा के बाद गंगा का जलस्तर बढ़ने लगा है। जिसका असर रामराज के मध्य गंगा बैराज पर भी दिखने लगा है।

मंगलवार की सुबह गंगा बैराज पर गंगा का जलस्तर चेतावनी बिंदू से ऊपर पहुंच गया है। मंगलवार की सुबह गंगा का जलस्तर अपस्ट्रीम में 221.50 मीटर रहा व डाउनस्ट्रीम 219 मीटर रहा। गंगा में 42925 क्यूसेक जल का निस्सारण रहा। सुबह 6 बजे हरिद्वार से 94318 क्यूसेक जल गंगा में छोड़ा गया। जो शाम तक गंगा बैराज पर पहुंचेगा। वहीं मध्य गंगनहर में 7000 क्यूसेक जल का निस्सारण रहा। गंगा के बढ़ रहे जलस्तर के बाद गांव देवल, जलालपुर नीला व रामराज की बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है तथा मछुवारों व गंगा किनारे पड़ने वाले गांवों के ग्रामीणों को गंगा के निकट नही जाने की चेतावनी दी गई है। सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता अशोक जैन ने बताया कि गंगा बैराज पर चेतावनी बिंदू 219 मीटर तथा खतरे का निशान 220 मीटर होता है। गंगा बैराज पर जलस्तर में घटत-बढ़त होती रहती है। अभी बाढ़ जैसी कोई संभावना नही हैं।