परीक्षाएं टलने की सम्भावनाएं बढ़ी, केंद्रीय मंत्री ने यूजीसी को दी परीक्षायें न लेने की सलाह

शि.वा.ब्यूरो, नई दिल्ली। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने कोरोना काल में कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों को परीक्षा आयोजित करने तथा नया शैक्षणिक सत्र शुरू करने के बारे में जारी दिशानिर्देश पर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को फिर से विचार करने की सलाह दी है। 

डा. निशंक ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। इससे परीक्षएँ रद्द होने की संभावनाएं बढ़ गई हैं। उन्होंने कहा,"मैंने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग को सलाह दी है कि पिछले दिनों उसने परीक्षाओं को आयोजित करने के बारे में जो दिशा निर्देश जारी किए थे उस पर वह विचार करे।" उन्होंने कहा कि इस सलाह के पीछे छात्रों शिक्षकों और गैर शैक्षिक कर्मचारियों की सुरक्षा और स्वास्थ की चिंता है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों यूजीसी ने एक दिशा निर्देश जारी कर विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को अंतिम सेमेस्टर की ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने तथा संस्थानों को नए सत्र में खोलने और दाखिला लेने आदि के बारे में एक निर्देश जारी किया था लेकिन शिक्षकों छात्रों और अभिभावकों ने इसका तीखा विरोध किया था और कहा था कि कोरोना के कारण वे परीक्षा देने की स्थिति में नहीं हैं। यूजीसी अगर इस सलाह को मान लेती है तो परीक्षाएँ नहीं होंगी।