अपनों के लिए एम्बूलेंस चालकों को लुभा रहे परिजन, दिल्ली जाने के लिए बीस हजार तक देने को तैयार 

शि.वा.ब्यूरो, खतौली। दूसरे राज्यों में फसे व्यक्तियों को घर बुलाने की होड़ सी लगी है। जब कोई योजना परवान नही चढी, तब ऐसे लोगों ने एम्बूलेंस का सहारा लेने का प्रयास आरम्भ किया। एम्बूलेंस चालकों को लुभावने ऑफर दिए जा रहे है, जिससे वह उनके परिजनों को बाहर से लाने में मददगार साबित हो।

कोरोना वायरस के देश-विदेश में फैलने के बाद यह संक्रमण भारत में भी कई राज्यों में अपने पैर पसार रहा है। ऐसी स्थिति में प्रधानमंत्री ने पूरे देश में लाॅक डाउन कर दिया है। सभी यातायात बंद किए जाने के बाद बाहर से आने वाले लोगों के पास कोई विकल्प नही है। ऐसी स्थिति में सभी को अपने मकानों में रहने तथा अपना ध्यान रखने की सलाह दी गई है, लेकिन कुछ लोग अपनों को अपने पास बूलाने के लिए हर संभव प्रयास करने में लगे है। जब कोई रास्ता उनका नही मिल रहा, तब उन्होंने एम्बूलेंस संचालकों को अपना रास्ता बनाने का प्रयास किया है। फोन पर एम्बूलेंस चालक को बीमार व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाने की सूचना देते है। जब एम्बूलेंस मौके पर पहुंच जाती है, तब उसे लुभावने ऑफर दिए जा रहे है। टेक्सी गाड़ी दिल्ली आने जाने के लिए दो हजार रुपये लेती है, लेकिन अपने परिजनों या बच्चों को बुलाने के लिए बीस हजार रुपये तक की आफर एम्बूलेंस चालकों को दी जा रही है। ऐसी स्थिति में पुलिस प्रशासन को इस ओर भी ध्यान देना पड़ेगा। कही बाहर से एम्बूलेंस की सहायता से आना वाला व्यक्ति जनता के लिए परेशानी का सबब न बन जाए।