शारदीय नवरात्र मेले के मद्देनजर अधिकारियों ने लिया मेले की तैयारियों का जायजा

गौरव सिंघल, सहारनपुर/शाकंभरी। सिद्धपीठ शाकंभरी देवी में 26 सितंबर से भरने वाले शारदीय नवरात्र मेले के मद्देनजर अधिकारियों और मंदिर व्यवस्थापक राणा आदित्य प्रताप सिंह ने सिद्धपीठ पहुंचकर मेले की तैयारियों का जायजा लिया। बता दें कि 13 सितंबर की सुबह शाकंभरी देवी में आई बाढ़ में एक महिला की मौत हो गई थी। इसके बाद से प्रशासन चौकसी बरत रहा है। शारदीय नवरात्र मेले की तैयारियों को लेकर जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी बाबूराम, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि प्रमुख बिजेंद्र चौधरी, मंदिर व्यवस्थापक राणा आदित्य प्रताप सिंह, तहसीलदार प्रकाश सिंह, सीओ मुनीश चंद्र आदि शाकंभरी देवी पहुंचे। जहां उन्होंने मेले में लगने वाले वाहनों की पार्किंग के लिए नागलमाफी, बादशाहीबाग-शाकंभरी देवी मार्ग, मोहंड़- शाकंभरी देवी जंगल मार्ग के दोनों किनारों की जगह चिह्नित की। 

मंदिर व्यवस्थापक राणा आदित्य प्रताप सिंह ने कहा कि मेले में कोई भी अनहोनी होने पर संदेश प्रसारित करने की व्यवस्था हो। सीओ मुनीष चंद्र ने नागल माफी के प्राथमिक विद्यालय में मेला राहत शिविर एवं भूरादेव पर अस्थायी पुलिस चौकी पर वाटरप्रूफ टेंट लगाने के लिए जिला पंचायत को कहा। इसके बाद अधिकारियों ने मेले में लगने वाले बाजार पर भी चर्चा की। 

जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि प्रमुख बिजेंद्र चौधरी ने बताया कि मंगलवार को डीएम और एसएसपी मेला स्थल पर पहुंच तैयारियों का जायजा लेंगे। उनके दिशा-निर्देश के बाद ही पार्किंग, दुकानों के लगाने के लिए बाजार आदि अन्य सभी कार्यों को अंतिम रूप दिया जाएगा। जिला पंचायत द्वारा मेले में चार जेसीबी लगाकर समतलीकरण का कार्य तेजी से कराया जा रहा है। मेले में ठेकेदार द्वारा वीरखेत से आमवाला तक लगभग 900 मीटर का नाला बना दिया गया था परंतु विगत 13 सितंबर को आई बाढ़ में नाला सिल्ट से भर गया था। इसे जिला पंचायत के ठेकेदार द्वारा दोबारा से बनाया जा रहा है। बेहट से लेकर शाकंभरी तक जिला पंचायत द्वारा गेट भी बनाए जा रहे हैं।