बाल सम्प्रेषण गृह गौतमबुद्धनगर का वर्चुयल निरीक्षण
सहारनपुर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव/सिविल जज(सीनियर डीविजन)ह्नषीकेश पाण्डेय ने कहा कि कोविड-19 महामारी से बचाव के लिये समय समय पर हाथ धोते रहें, मास्क लगाकर रखे और दो गज की दूरी बनाये रखें। उन्होने कहा कि साफ सफाई, भोजन, खान पान तथा भंडार गृह को व्यवस्थित रखा जाए। उन्होने कहा कि यदि किसी को विधिक सहायता की आवश्यकता है तो वह अपना प्रार्थना पत्र बाल सम्प्रेषण गृह की सहायता से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यालय में भिजवा सकता है तत्काल अधिवक्ता की सुविधा उपलब्ध करा दी जायेगी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष/जनपद न्यायाधीश अश्विनी कुमार त्रिपाठी के मार्गदर्शन में राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुपालन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव/सिविल जज (सीनियर डीविजन) ह्नषीकेश पाण्डेय आज बाल सम्प्रेषण गृह गौतमबुद्धनगर का वर्चुयल निरीक्षण एवं विधिक साक्षरता शिविर के आयोजन में यह बात कही। उन्होने 10 किशोर अपचारियों से अलग अलग वार्ता की तथा उनकी समस्या को सुना। किसी भी किशोर बन्दी ने अपनी कोई समस्या नही बताई। उन्होने निर्देश दिये कि समय समय पर बाल सम्प्रेषण गृह का सैनिटाईजेशन कराया जाए। उन्होने किशोर अपचारियों के स्वास्थ्य के विषय में जानकारी ली तथा निर्देश दिये कि निरनतर बच्चो का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए। सचिव द्वारा अधीक्षक से माननीय उच्च न्यायालय हाई पाॅवर कमेटी द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुपालन में जानकारी ली गयी कि क्या कोई किशोर अपचारी ऐसा तो नही है जो 07 वर्ष तक की सजा, कि परिधि मे आता हो। अधीक्षक द्वारा बताया गया सभी किशोर अपचारियों के मामले गंभीर प्रकृति के है, जो इस परिधि में नही आतें है। अधीक्षक से किशोर अपचारियों के कोविड-19 टेस्ट के बारे में पूछा गया बताया कि प्रारम्भ में किशोर का अपचारियों का कोविड-19 टेस्ट हुआ था कोई किशोर अपचारी पाॅजीटिव नही आया।