महिला अस्पताल में निमोनिया वैक्सीन का शुभारंभ, बच्चों को पिलाई गई विटामिन-ए की खुराक

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिला महिला अस्पताल में गुरुवार को निमोनिया की  वैक्सीन का शुभारंभ बुढ़ाना के विधायक उमेश मलिक ने फीता काटकर किया। कार्यक्रम में कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए बच्चों को न्यूमोकोकल कंजुगेट वैक्सीन (पीसीवी) के अलावा आज से ही शुरू हुए बाल स्वास्थ्य पोषण माह के तहत विटामिन-ए की खुराक दी गई। इस मौके पर प्रोटोकाल का ध्यान रखते हुए हाथों को सैनिटाइज करके बच्चों को दवा पिलाई गयी।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. प्रवीण चोपड़ा ने बताया  वैक्सीन न्यूमोकोकस बैक्टीरिया से होने वाले निमोनिया व अन्य बीमारियों से बचाव का सबसे कारगर तरीका है। इस वैक्सीन के इस्तेमाल से बच्चों में निमोनिया बीमारी और बाल मृत्यु दर में कमी आएगी। भारत सरकार अब इसे नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के तहत निःशुल्क उपलब्ध करा रही है। पीसीवी तीन टीकों के रूप में दी जाएगी। पहला टीका बच्चे को डेढ़ महीने का होने पर, दूसरा टीका साढ़े तीन महीने का होने और तीसरा टीका नौ माह का होने पर लगाया जाएगा। पीसीवी पूरी तरह सुरक्षित व कारगर वैक्सीन है, पीसीवी वैक्सीन के लगने से गंभीर दुष्प्रभाव की संभावना न के बराबर है। वैक्सीन लगने की जगह पर हल्का दर्द या हल्का बुखार हो सकता है ।

उन्होंने बताया  बच्चों में कुपोषण को खत्म करने के लिए विटामिन-ए की खुराक भी बेहद जरूरी है। इससे बच्चों में आंखों से संबंधित बीमारी होने का खतरा कम हो जाता है। कार्यक्रम में विधायक उमेश मलिक, जिला मंत्री सचिन सिंघल, महिला अस्पताल की मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (सीएमएस) अमृता भांभे, एसीएमओ डॉ. वीके सिंह,एसीएमओ डॉ. शरण सिंह, एसीएमओ डॉ. अरविंद पंवार,डॉ. गीतांजलि वर्मा आदि उपस्थित रहे।