इंग्लिश क्लब में शिक्षक व अधिकारी के बीच चले लाठी-डण्डे, अधिकारी घायल 

समर बहादुर सिंह, जौनपुर। हाईप्रोफाईल मैदान में आज जो घटनाएं हुई वह पढ़े लिखे समाज को कलंकित कर देने वाली है। इंग्लिश क्लब के बैडमिंटन मैदान में होली के दूसरे दिन जमकर लाठी-डण्डे चले। यह वारदात किसी दबंग या माफियाओं की बीच नहीं, बल्कि डिग्री कालेज के एक शिक्षक व आबकारी विभाग के अधिकारी के बीच हुई। इस वारदात में आबकारी विभाग के इंस्पेक्टर गंभीर रूप से घायल हो गए। इस खूनी संघर्ष से वहां मौजूद अन्य खिलाड़ियों में हड़कंप मच गया। पढ़े लिखे तबके बीच हुए विवाद की चर्चा पूरे जिले में फैल गयी। पुलिस ने घायल अधिकारी की तहरीर पर शिक्षक समेत चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज करके मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। जिलाधिकारी ने मामले की जांच सिटी मजिस्ट्रेट को सौंप दी।

 

बता दें कि लाइन बाजार थाना क्षेत्र के हाईडिल के पास इंग्लिस क्लब है। यहां पर बैडमिंटन मैदान है। इस क्लब के मेंबर अधिकारी, डाक्टर, इंजीनियर सहित अन्य लोग हैं। ये लोग प्रतिदिन यहां बैडमिंटन खेलने के लिए आते हैं। यहां पर बुधवार की सुबह बैडमिंटन खेलने के विवाद को लेकर टीडीपीजी कालेज के शिक्षक जय प्रकाश सिंह और बदलापुर क्षेत्र के आबकारी विभाग के इंस्पेक्टर प्रशांत सिंह खेलने के विवाद को लेकर आपस में भीड़ गये। देखते ही देखते मामला इतना गर्म हो गया कि दोनों लोगों के बीच तीखी झड़प के साथ मारपीट हो गई। इस वारदात में आबाकारी इंस्पेक्टर घायल हो गए। घायल इंस्पेक्टर ने बताया कि मैं प्रतिदिन आठ बजे इंग्लिस क्लब में बैडमिंटन खेलने जाता हूं। आज मै वहां पहुंचा तो क्लब के एक मात्र सदस्य डा. सैफ ग्राउण्ड के बाहर बैठे हुए थे। चार लोग बैडमिंटन खेल रहे थे वे लोग क्लब के सदस्य नहीं थे। मैंने उन लोगों से यहां कैसे खेलने के बारे में पूछा तो तीन लोग बाहर निकल गये, जबकि जेपी सिंह वहीं रूके रहकर मुझसे विवाद करते हुए यह कहते हुए निकले कि अभी मैं तुम्हे बताता हूं। थोड़ी देर बाद वे लाठी डण्डे से लैस होकर अपने चार साथियों के साथ पहुंचकर मुझे मारपीटा जिससे मुझे गम्भीर चोटें आयी है।

उधर शिक्षक जेपी सिंह ने अपना पक्ष रखते हुए बताया कि मैं और आबकारी विभाग के इंस्पेक्टर खेल रहे थे। एक प्वाइंट के विवाद को लेकर इंस्पेक्टर मुझसे भीड़ गये। उन्होंने मेरा कालर पकड़कर बाहर धकेल दिया और बदसलूकी की। धक्का मुक्की में मेरे बैडमिंटन से उन्हे चोट लग गई।

एसपी सिटी अनिल कुमार पाण्डेय का कहना है कि वारदात की खबर मिलते ही पुलिस घायल इंस्पेक्टर को जिला अस्पताल ले गयी। उनका इलाज कराने के बाद उनकी तहरीर पर शिक्षक समेत चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है।