डीएलएड-बीटीसी की सभी परीक्षाएं स्थगित, ट्यूशन क्लासिस एवं कोचिंग सैन्टर पर रोक, शिक्षक, शिक्षणेत्तर कार्मिकों की छुट्टी


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिला विद्यालय निरीक्षक गजेन्द्र कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार एवं प्रमुख सचिव, माध्यमिक शिक्षा, उ0प्र0 लखनऊ के निर्देशों के क्रम में कोरोना वायरस (Covid-19) के फैलाव के रोकने के उद्देशय से समस्त प्रकार के ट्यूशन क्लासिस एवं कोचिंग सैन्टर के संचालन पर तत्काल प्रभाव से 2 अप्रैल तक रोक लगाई जाती है। किसी भी प्रकार के कोचिंग, इस आदेश के निर्गत होने के बाद यदि किसी कोचिंग का संचालन होता पाया जाता है तो सम्बंधित कोचिंग का पंजीकरण निरस्त करते हुए कोचिंग संचालक के खिलाफ सुसंगत धाराओं में कानूनी कार्यवाही कर दी जायेगी, जिसका सम्पूर्ण उत्तरदायित्व कोचिंग संचालक का स्वयं का होगा।



जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि प्रमुख सचिव, माध्यमिक शिक्षा ने कोरोना वायरस के बढते दुष्प्रभाव के चलते निर्देश दिये गये है कि विद्यालयों में परीक्षा अथ परीक्षा अथवा मूल्यांकन कार्य में संलग्न शिक्षक, शिक्षणेत्तर कार्मिकों के अतिरिक्त अन्य शिक्षक, शिक्षणेत्तर कार्मिकों को विद्यालय में न बुलाया जाए। देश शासन लखनऊ के अनुपालन में जनपद में संचालित समस्त बोर्ड यथा उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा, पार मिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश संस्कृत परिषद, सीबीएसई, आईसीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त से मान्यता प्राप्त विद्यालयों शिक्षणेत्तर कार्मिकों को विद्यालय में न बुलाया जायें, परन्तु राजकीय हित में कोई आवश्यक कार्य होता है तो संबंधित कार्मिक को विद्यालय बुलाया जा सकता है। 



इसके साथ ही परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके बताया है कि उत्तर प्रदेश कार्यालय ज्ञाप मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश शासन द्वारा निर्गत शासनादेश व चिकित्सा अनुभाग द्वारा कोराना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु सोशल डिस्टेन्सिंग एवं अन्य उपाय लागू किये जाने हेतु दिये गये निर्देश के बिन्दु-03 के परिप्रेक्ष्य में डीएलएड 2019 प्रथम सेमेस्टर, डीएलएड 2017, 2018, बीटीसी 2013, 2014, 2015, अनुत्तीर्ण/अवशेष की 23 मार्च से एवं डीएलएड 2018 तृतीय सेमेस्टर, डीएलएड 2017, बीटीसी 2013, 2014, 2015, अनुत्तीर्ण/अवशेष की 26 मार्च से प्रस्तावित परीक्षा अग्रिम आदेशों तक स्थगित की जाती है। उन्होंने बताया है कि आगामी परीक्षा कार्यक्रम पृथक से निर्गत किये जायेगें।