वार्षिक पारितोषिक समारोह में मेधावियों को सम्मानित किया


शि.वा.ब्यूरो, शिमला। रावमा पाठशाला मैनन के वार्षिक परितोषित वितरण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि नारकंडा के प्रधानाचार्य डा.हिमेन्द्र बाली ने बच्चों को पारितोषिक वितरण करके उनका उत्साहवर्धन किया। इस अवसर पर स्कूली बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये।



वार्षिक पारितोषिक समारोह को सम्बोधित करते हुए डा.हिमेन्द्र बाली ने कहा कि सफलता का परिश्रम के अलावा कोई शाॅर्टकट नहीं है। उन्होंने इस अवसर पर बच्चों द्वारा प्रस्तुत किये गये सांस्कृतिक कार्यक्रमों की भी मुक्तकंठ से प्रशंसा की। डा.बाली ने बच्चों से अपनी संस्कृति से जुडे रहने और नशे से दूर रहने की अपील भी की। इस अवसर पर संस्था के कार्यकारी प्रधानाचार्य महेश चैहान ने विद्यालय की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए आश्वस्त किया कि विद्यालय का स्टाफ बच्चों और उनके अभिभावकों की कसौटी पर खरा उतरने का हर सम्भव प्रयास करता रहा है और भविष्य में भी करता रहेगा।




रंगारंग सांस्कृति कार्यक्रमों के तहत स्कूली बच्चों ने राजस्थानी, पहाड़ी, गढ़वाली व नारी सशक्तिकरण पर आधारित नृत्य नाटिका प्रस्तुत करके बड़े-बड़ों को दांतो तले अंगुली दबाने पर मजबूर कर दिया। 
इस अवसर पर स्कूल प्रशासन की संस्तुति पर मुख्यअतिथि डा. हिमेन्द्र बाली ने इन्दिरा सदन को सर्वश्रेष्ठ सदन के खिताब से सम्मानित किया। सर्वश्रेष्ठ छात्र-छात्रा का सम्मान वरिष्ठ एवं कनिष्ठ वर्ग से क्रमशः हिमांशु, शबनम, शुभम व तेजल को प्रदान किया गया। पढ़ाई में उल्लेखनीय प्रदर्शन करने पर कमल, प्रतीक, स्पर्श, शोभा, मेदिनी,  भरत ऐरिका, सान्या, तेजल, गौरव, बीरबल, पूजा व गोपाल को पुरस्कृत किया गया। 



इस अवसर पर शशिपाल डोगरा, नेहा धर्मा, नरेन्द्र भारद्वाज, मीरा शर्मा, प्रकाश शर्मा सहित अनेक गणमान्य लोग व अभिभावक मौजूद रहे। कार्यक्रम में समस्त स्कूल स्टाफ का सराहनीय योगदान रहा।